बुधवार, 6 फ़रवरी 2008

प्रभाष जोशी के साथ...


1 टिप्पणी:

हिन्दी साहित्य सभा ने कहा…

दिलीप जी, नमस्कार!
प्रकाशजी ने आज आपके विषय में बताया कि आप बडे़ ही उत्साही पत्रकार हैं। मेरा सौभाग्य होगा आप जैसे व्यक्तित्व से मिलकर। इधर कोलकाता आना हो तो प्रकाशजी की आफिस में ही मिल लेगें। दिनेश ललवानी से मुलाकात हो तो कहियेगा, मैंने उनको याद किया है। इन दिनों सम्मेलन का मुखपत्र 'समाज विकास' का सम्पादन का काम मेरे जिम्मे ही है, आप कुछ सामाजिक लेख लिखते हों तो जरूर भेंजे। आपका ब्लॉग काफी अच्छा लगा। मेरी शुभकामनाऎं आपके साथ है। इस साइट से भी आप जुड़ सकते हैं: आपका ही - शम्भु चौधरी, कोलकाता।
http://groups.google.com/group/samajvikas
http://samajvikas.in/
http://ehindisahitya.blogspot.com/
http://groups.google.com/group/ehindisahitya?lnk=srg